बेहडेकी सैदाबाद गांव स्थित कन्हैया मंदिर पर जन्माष्टमी मेले के दूसरे दिन शनिवार को कुश्ती का किया समापन

ipressindia
0 0
Read Time:3 Minute, 39 Second

झबरेड़ा।

बेहडेकी सैदाबाद गांव स्थित कन्हैया मंदिर पर जन्माष्टमी मेले के दूसरे दिन शनिवार को कुश्ती का समापन किया गया। इस दौरान कुश्ती में जीते पहलवानों को पुरस्कृत किया गया।झबरेड़ा थाना क्षेत्र के बेहडेकी गांव में कन्हैया जी के प्राचीन मंदिर में जन्माष्टमी का तीन दिवसीय मेला लगा हुआ है। मंदिर कमेटी की तरफ से मेले के पास दो दिवसीय दंगल का आयोजन भी किया जा रहा है। दंगल के दूसरे दिन पहलवानों ने कुश्ती के करतब दिखाते हुए कुश्तियां जीती। कुछ कुश्तियां बराबर छूटी, तो कुछ में प्रतिद्वंदी पहलवान ने सामने वाले पहलवान को पटखनी देकर हराया। जीतने वाले पहलवानों को मंदिर समिती की निगरानी में पुरस्कृत किया गया। दंगल में हरियाणा, दिल्ली व यूपी सहित कई प्रदेशों के पहलवानों ने कुश्ती के करतब दिखाए। इस दौरान समापन अवसर पर मुख्य अतिथि पूर्व कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि दंगल के आयोजन से युवाओं में शरीर हस्ट-पुष्ट रखने की प्रेरणा मिलती है। स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क वास करता है। आजकल की इस भाग दौड़ की जिंदगी में युवाओं को तरह तरह की बीमारियों ने घेरा हुआ है। गांव स्तर पर कुश्तियों का आयोजन होते रहना चाहिए। दंगल में पहलवान प्रिंस गुर्जर, संदीप, गूंगा, सोनम व राशिद की कुश्ती बहुत रोमांचक रही। इस दौरान सुशील त्यागी, पवन कुमार, अनिल त्यागी, विनय त्यी, काला, प्रदीप, विशाल, गौरव, अंकित, पोपी त्यागी, सतीश, नीरज, विजय कुमार, राजकुमार, स्वामी हसानंद महाराज, कृष्णानंद गिरी महाराज, एडवोकेट बृजमोहन त्यागी, बिलवा पहलवान, मेहर चंद त्यागी, चंदन त्यागी, डाॅ. अमन गुप्ता आदि मौजूद रहे। वहीं दूसरी ओर पूर्व राज्यमंत्री सुबोध राकेश दंगल में पहुंचे। जहां उन्होंने दंगल का फीता काटकर उद्घाटन किया तथा पहलवानों की हौसलाफजाई की। साथ ही बताया कि किस प्रकार की प्रतियोगिता में शामिल होने से पहलवानों में आगे बढ़ाने की ललक पैदा होती है तथा वह अपनी मेहनत से किस प्रकार केवल देश-प्रदेश का नाम रोशन करते हैं। उन्होंने दंगल आयोजकों को शुभकामनाएं देते हुए सभी पहलवानों के उज्जवल भविष्य की कामना की तथा कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निर्माण होता है। कहा कि ग्रामीण अंचल में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। बस जरूरत है उन्हें उचित माध्यम दिलाने की। इस प्रकार की प्रतियोगिताओं से ही पहलवानों में निखार पैदा होता है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

ताश के पत्तो से हार-जीत की बाजी लगाने वाले 3 अभियुक्तगणों को दिल्ली रोड फ्लाई ओवर के पास लाल कुर्ती को जाने वाले रास्ते पर ताश के पत्ते व 2,040 रुपये के साथ किया गिरफ्तार

रुड़की। एसएसपी हरिद्वार द्वारा दिये गये निर्देशों के क्रम में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली रुड़की मनोज मैनवाल द्वारा अधीनस्थ अधिकारी/कर्म0गणों को दिये गये आवश्यक दिशा निर्देश के अनुपालन में रुड़की पुलिस द्वारा ताश के पत्तांे से हार-जीत की बाजी लगाने वाले 3 अभियुक्तगणों को दिल्ली रोड फ्लाई ओवर के पास लाल […]
echo get_the_post_thumbnail();

You May Like

Subscribe US Now

Share